November 29, 2022

आग लगने पर दम घुटने से बुजुर्ग दंपती की मौत

दिल्ली के कृष्णा नगर के मकान की चौथी मंजिल पर फ्लैट में आग लगने पर दम घुटने से बुजुर्ग दंपती की मौत हो गई।

मृतकों की पहचान राजकुमार जैन (80) और उनकी पत्नी कमलेश जैन (75) के रूप में हुई है। हादसे के वक्त दंपती अकेले थे। दमकल विभाग की चार गाड़ियों ने मौके पर पहुंच कर आग पर काबू पाया।

क्राइम टीम के अलावा एफएसएल की टीम मामले की जांच कर रही है। शुरुआती जांच के बाद एसी में शार्ट सर्किट आग की वजह बताई जा रही है।पुलिस के मुताबिक पुनीश जैन परिवार के साथ कृष्णा नगर के एफ-ब्लाक में एक मकान की चौथी मंजिल पर बने फ्लैट में किराये पर रहते हैं। उनके परिवार में पत्नी रीमा जैन, बड़ा बेटा मनन जैन और छोटा बेटा आशीष जैन है।

पुनीश का गांधी नगर क्षेत्र में कपड़ों का कारोबार है। उनके पिता राजकुमार जैन और मां कमलेश जैन कृष्णा नगर क्षेत्र के ही राम नगर में मछली वाली गली में अलग मकान में रहते थे। वह पांच दिन पहले ही पुनीश के घर कुछ दिनों के लिए रहने आए थे।शनिवार को पुनीश रोजाना की तरफ अपनी दुकान पर थे। उनका बड़ा बेटा काम से लुधियाना गया हुआ था। छोटा बेटा पढ़ाई के सिलसिले में घर से बाहर था।

दोपहर में रीमा भी बुजुर्ग दंपती को फ्लैट पर छोड़कर किसी के घर कीर्तन चली गईं। उनके निकलते ही बुजुर्ग दंपती ने स्टील का मेन गेट अंदर से लाक करने के बाद लड़की का दरवाजा बंद कर लिया। शाम करीब 4:15 बजे फ्लैट से धुआं निकलता देख पड़ोसियों ने पुलिस और दमकल विभाग को सूचना दी। कुछ ही देर में दमकल की चार गाड़ियां और दो एंबुलेंस मौके पर पहुंच गई। इतने में पुलिस टीम भी वहां आग गई।

स्टील के गेट पर लगी जाली को तोड़ने के बाद किसी तरह धक्का देकर लड़की का दरवाजा खोला गया। वहीं उसे पाइप के जरिये पानी डाल कर आग पर काबू पाय गया। इतने में दमकल कर्मियों को अंदर हलचल महसूस हुई। इस पर पुलिस टीम ने किसी तरह स्टील के गेट का लाक तोड़ा। इसमें थोड़ा वक्त लग गया। अंदर जाकर देखा तो बुजुर्ग राजकुमार जैन और उनकी पत्नी कमलेश जैन हाल में जमीन पर अचेत पड़ी थीं। वह झुलसे नहीं थे।एंबुलेंस में दोनों को तुरंत डा. हेडगेवार अस्पताल पहुंचाया गया, वहां पर उनकी सांसें चल रही थीं।

अस्पताल पहुंने के थोड़ी देर बाद बुजुर्ग दंपती की मौत हो गई। इस हादसे में फ्लैट का एक कमरा पूरी तरह जल गया, जबकि दूसरा कमरा आधा जला है। हाॅल धुएं की वजह से काला हो गया। मौके पर शाहदरा डीसीपी आर सत्यसुंदरम मौके पर पहुंचे थे। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक शुरुआती जांच में सामने आया कि बुजुर्ग दंपती जिस कमरे में थे, आशंका है कि एसी में शार्ट सर्किट से आग लगी।

यह भी बताया कि बुजुर्ग दंपती की मौत धुएं की वजह से दम घुटने से हुई है। बुजुर्ग दंपती के बेटे पुनीश ने बताया कि वह मूल रूप से लुधियाना के रहने वाले हैं। करीब 25 साल से कृष्णा नगर क्षेत्र में रह रहे हैं। उनके माता-पिता थोड़ी दूरी पर दूसरे मकान में रहते थे। हाल में वह उनके पास कुछ दिन के लिए आए थे।

आइसीयू में भर्तीबुजुर्ग दंपती की बहू रीमा जैन आग की सूचना मिलने के बाद फ्लैट पर पहुंची तो हालात देख कर बेहोश होकर गिर गईं। उन्हें करीब के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुनीश ने बताया कि उनकी पत्नी सदमे को सहन नहीं कर पाईं, इसलिए उनकी तबीयत बिगड़ गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post सड़क पर चलते दिखे पुराने वाहनों को तुरंत जब्त कर लिया जाएगा:दिल्ली सरकार
Next post सभी डीसीपी को यौन उत्पीड़न की शिकायतों का ब्यौरा पेश करने का दिल्ली पुलिस कमिश्नर का आदेश