December 9, 2022

इसरो मंगलग्रह की कक्षा में जाने वाला तीसरा संस्थान बना। मंगल मिशन के पीछे के. राधाकृष्णन का अहम योगदान

Previous post दुनिया का सबसे सस्ता सफल मंगल अभियान, इस मिशन की कीमत हॉलीवुड मूवी ग्रेविटी की प्रोडेक्शन से भी कम
Next post भारत पहली कोशिश में मंगल तक पहुंचने वाला न सिर्फ पहला एशियाई देश बन गया है,इस कदम के साथ ही मंगल ग्रह पर अपनी मौजूदगी दर्ज कराने वाला विश्व का चौथा देश बन गया है।