December 2, 2022

कितने सुरक्षित है हम अपने ही देश में

सदियों से हिन्दू देवी देवताओं का पूजन हमारे देश में होता रहा है, देश का कोई भी कोना हो, उँचे पहाड़ हो दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं की ईश्वर के दर्शनों के लिए के लिए कही ही जाने को तैयार रहती है। पहाड़ो में भी बाबा अमरनाथ बर्फानी के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं की आपार भीड़ ही हर साल कश्मीर में जाती है, उन्ही श्र्धलुओ की सेवा के लिए श्री अमरनाथ बर्फानी लंगरस ऑर्गनाइजेशन की ओर से बाबा अमरनाथ के रास्ते में स्थान स्थान पर फ्री लंगरों का आयोजन किया जाता है एवं यात्रियों के रुकने की भी व्यवस्था भी की जाती है। लेकिन पिछले कुछ समय से बाबा अमरनाथ यात्रा पर कुछ असामाजिक तत्वों एवं आंतकवादियो के की बुरी नज़र पड़नी शुरू हो चुकी है समय समय पर यात्रा में व्यवधान पैदा करने से बाज़ नहीं आते है। जिस कारण बाबा अमरनाथ यात्रा को सुरक्षा के दायरे रखते संपन्न कराया जाता है।

लेकिन अभी हाल ही में हिन्दुओ के तीर्थ बाबा अमरनाथ बर्फानी यात्रा को रोकने के मकसद से कुछ अमाजिक तत्वों ने 18 जुलाई की सुबह अचानक कश्मीर के बालटाल क्षेत्र में जहाँ काफी संख्या में यात्रा के दौरान जिन लंगरों का आयोजन किया जाता है उन सेवादारो पर हमला कर दिया, उन्हें झख्मी कर दिया और टेंट तम्बुओं में आग लगा दी और काफी जमकर लूटपाट भी की।

श्री अमरनाथ बर्फानी लंगरस ऑर्गनाइजेशन ने आज दिल्ली के जंतर मंतर पर इसी शर्मनाक घटना के विरोध में धरना दिया। इस धरने में श्री अमरनाथ बर्फानी लंगरस ऑर्गनाइजेशन के लगभग तीन से चार हज़ार कार्यकर्ताओ ने भाग लिया और अपना विरोध प्रदर्शन किया।

श्री अमरनाथ बर्फानी लंगरस ऑर्गनाइजेशन के प्रेजिडेंट विजय ठाकुर ने हमें बताया की बताया की 18 तरीक की सुबह कई अमाजिक तत्व एक सुनियोजित साजिश के तहत बालटाल में हमारे लगे पंडालों व् लंगरों में शोर मचाने हुए आये। लंगरों की सुरक्षा के लिए लगाये लगाए हुए बेड़े के बीच गेट को जम्मू पुलिस की मौजूदगी में गेट को खोलकर आये और आते ही लड़ाई झगड़ा करने लगे और इसके बाद उन्होंने पंडालों एवं लंगरों को आग के हवाले करना शुरू कर दिया , टेंटों में खाने के अलावो पेट्रोल डीज़ल के साथ साथ काफी सांख्य में गैस सिलेंडर भी थे , आग लगने से वो भी एक के बाद एक धू धू करके जलने लगे और एक के बाद एक वह रखे सिलेंडरों में धमाके होने लगे और देखते ही देखते करोडो रुपए का सामन जलकर ख़ाक हो गया ,उपद्रियो ने वह खड़ी गाड़ियों के शीशे तोडना शुरू कर दिए और जिसके हाथ जो लगा वो लूटकर चलता बना, पंडालों में दर्शनों के लिए आये यात्रियों में महिलाओं के साथ साथ बच्चे भी थे जिनके साथ भी मारपीट की गई , बस वह सब अपनी जान बचाने के लिए इधर उधर भागते नज़र आये और वो सभी अपने सामन को लूटते हुए दहशत के मारे देखते रहे और ये सब होता रहा जम्मू कश्मीर की पुलिस की मौजूदगी में। विजय ठाकुर ने बताया की अभी तक वहा जम्मू कश्मीर पुलिस ने ना तो किसी को गिरफ्तार किया है और ना ही किसी के विरुद्ध अभी तक कोई एफ आई आर दर्ज की गयी है उल्टा हमारे ही भंडरा सेवकों को पुलिस पकड़कर ले गयी और परेशान किया , बड़ी मुश्किल से हम उन्हें वापस पुलिस से छुड़ा कर लाये। विजय ठाकुर का ये भी कहना है की जैसा फ़िल्म ग़दर मे दिखाया गया , बालटाल का नज़ारा उससे काम नहीं था। इसलिए हम आज 24 जुलाई को यहाँ दिल्ली के जंतर मंतर पर एकत्रित होकर सरकार को जगाने आये है की हमें सुरक्षा प्रदान की जाये।

वही श्री अमरनाथ बर्फानी लंगरस ऑर्गनाइजेशन के संगरक्षक देवेंद्र उप्पल का कहना है की ये हिन्दुओ की आस्था पर एक सोची समझी एक साजिश है। पहले हिन्दुओ को कश्मीर से खदेड़ा गया और अब उनके देवी देवताओं के पवित्र स्थानों पर दर्शनों के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं को अमरनाथ बर्फानी के दर्शनों के लिए रोके जाने के लिए इस शर्मनाक घटना को अंजाम देकर डर का माहोल पैदा किया जा रहा है जिससे की कश्मीर में अमरनाथ बर्फानी के दर्शनों के लिए लोग ना आये। लेकिन हम आज 24 जुलाई को यहाँ दिल्ली के जंतर मंतर पर एकत्रित होकर सरकार को बताना चाहते है की हिन्दू डरने वाला नहीं श्री अमरनाथ बर्फानी की यात्रा बरसो से चलती आई है और आगे भी चलती रहेगी। देवेंद्र उप्पल ने आगे कहा की हम सरकार से माग करते है की दोषियों को तुरंत गिरफ्तार किया जाये और बाबा अमरनाथ यात्रा से जम्मू कश्मीर पुलिस को हटाया जाये और वह सुरक्षा की दृष्टि से पैरा मिलिट्री फ़ोर्सेज़ को तुरंत तैनात किया जाये। जब तक सरकार हमारी मांगे पूरी नहीं करती हम अपना विरोध व्यक्त करते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post लगातार बारिश सें ओडिशा में बाढ का खतरा
Next post जगतपुर थाना तिमारपुर में परसों तीन लोगो को मारी थी गोली