December 9, 2022

जांच अधिकारियों नें करा लिये धोखे से हस्ताक्षर, थानें में हुई शिकायत

उमरिया मानपुर- जनपद पंचायत मानपुर की ग्राम पंचायत परासी (अमिलिया) में सरपंच सचिव द्वारा किये जा रहे भ्रष्टाचार को समय समय पर ग्रामीणजनों नें प्रशासनिक अधिकारियों को अवगत कराकर जांच की मांग की थी लेकिन पुख्ता शिकायत मिलनें के बाद भी जनपद के अधिकारी न तो कार्यवाही कर रहे और न ही कोई जांच कर रहे जिससे ग्रामीण एवं हितग्राहीजन परेशान है। बाल्मीकि जायसवाल पिता रामनिहोर जायसवाल निवासी परासी नें थाना प्रभारी मानपुर को दिये गये शिकायती पत्र में उल्लेख किया कि उसे ग्राम पंचायत द्वारा विधिवत कपिलधारा योजना स्वीकृत हुआ था जहां उसे पंचायत से चौबीस हजार रूपये मिला था शेष राषि का भुगतान नही किया गया जिससे उसका कृंआ आज भी अधूरा है और धसकनें की कगार पर है। बाल्मीकि जायसवाल नें कपिलधारा निर्माण कार्य की राषि के लिए बार बार सरपंच सचिव के चक्कर काटता रहा बावजूद इसके भी उसका भुगतान नही किया गया जिससे थक हार कर आवेदक बाल्मीकि जायसवाल नें पीजी के माध्यम से शिकायत दर्ज कराकर भुगतान कराये जानें की मांग की। जिसकी जांच में जनपद पंचायत के सहायक लेखाधिकारी मुनेन्द्र पाण्डेय, सचिव हेतराम चतुर्वेदी, एवं रोजगार सहायक ओंकार जायसवाल शिकायतकर्ता के घर गये। आवेदक नें अपनें शिकायती पत्र में बताया कि मेरे घर उक्त तीनों लोग आये और बोले हम तुम्हारे पीजी शिकायत की जांच में आये हैं। आवेदक नें जो कथन दिया उसे उक्त तीनों जांचकर्ताओं नें मनमानी तरीके से लिखा और मनमुताबिक जांच प्रतिवेदन बना कर भेज दिये जिससे भुगतान के लिए शिकायतकर्ता बेहद त्रस्त है। आवेदक नें थाना प्रभारी को पत्र सौंपकर उपरोक्त तीनों व्यक्तियों पर धोखाधडी का मामला दर्ज कर कार्यवाही की मांग की है।

संजय पाण्डेय

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post ताला मार्ग में दलदल¸ लगता है जाम, दुर्घटना की आशंका
Next post 33 आईपीएस अफसरों की अदलाबदली