December 3, 2022

जिमों को दुबारा खोलने हेतु विनम्र प्रार्थना

भारत के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी आपसे और सभी राज्यों के माननीय मुख्यमंत्रियों से मैं द्रोणाचार्य भूपेन्द्र धवन भारत के सभी जिम समुदाय, जिम मालिकों, जिम संचालकों, जिम ट्रेनर्स, जिम को अपनी रोजी-रोटी बनाने वाले नौजवानों, जिम में जाकर स्वास्थ्य लाभ करने वाले नौजवानों और देश के नागरिकों, जिम उद्योग के लिए सामान बनाने वाली कंपनियों, उनके कर्मचारियों, श्रमिकों की ओर से करबद्ध अपील करता हूं मैं अपील और विनम्र प्रार्थना करता हूं कि रोज़गारी की टूटती शृंखला से अवसादग्रस्त हो रहे नौजवानों को मजबूरी में गलत कदम न उठाने पड़ें इसके लिए कि जिम उद्योग को शीघ्र ही पुनः खोलने की अनुमति दी जाए।

लम्बे समय से रोजगार और भुखमरी की समस्या से जुड़े ये सभी जिम न खोल पाने के कारण कब क्या कदम उठा लें, कुछ नहीं कहा जा सकता पर अनुमान लगाया जा सकता है। हताशा और निराशा से पैदा होता अवसाद कोई भी कदम उठाने को मजबूर कर सकता है। अधिकतर की संख्या ऐसी है जो जिम को सभी कुछ समर्पित कर चुके हैं तथा सक्षम न होने के कारण अन्य किसी व्यवसाय को करने की नहीं सोच पा रहे। यदि ऐसा होता तो वे कर चुके होते और अपील करने के लिए बाध्य न होते।

जिम संचालक पहले से ही इस बात के लिए तैयार हैं कि वे कोरोना से सुरक्षा के लिए सभी उपाय अपनाने को तैयार हैं और हों भी क्यों न, उन्हें स्वयं अपनी और अपने जिमों में आने वालों की चिन्ता है।

समय रहते जिम को खोले जाने के आदेश जारी किया जाना बहुत ही जरूरी है। बेरोजगारी से जूझते भारत में रोजगारी की यह शंृखला टूट गयी तो बेरोजगारी की शृंखला बढ़ जायेगी जिसे सम्भालना मुश्किल हो सकता है। अवसाद में डूब चुका नौजवान किसी गलत दिशा में दिग्भ्रमित हो सकता है जिसे वापिस लाना मुश्किल होगा। इस समस्या पर गंभीरता से विचार किया जाये और इससे पहले कि जिम से जुड़े लोग गलत कदम उठायें सम्पूर्ण भारत में स्वास्थ्य के मन्दिर इन जिमों को आगामी 1 अगस्त से दुबारा खोलने की अनुमति दी जाये। जिम समुदाय आपका आभारी रहेगा।

(द्रोणाचार्य भूपेन्द्र धवन)

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post ग्लोबल वार्मिंग व प्रदूषण से विश्व को 500 दिनों में मुक्ति : प्रो. राठी
Next post उत्तरी दिल्ली के महापौर ने मानसून के मद्देनज़र नबी करीम क्षेत्र का किया निरीक्षण