October 2, 2022

झज्जर पुलिस की स्पेशल टीम द्वारा फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर गणमान्य व्यक्तियों को धमकी देने का आरोपी कोलकाता से गिरफ्तार,

बहादुरगढ़: फर्जी फेसबुक आईडी के द्वारा बहादुरगढ़ के गणमान्य व्यक्तियों को धमकी देने के मामले का पर्दाफाश करते हुए झज्जर पुलिस की एक विशेष टीम द्वारा वांछित एक आरोपी को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की गई है। मामले की विस्तृत जानकारी देते हुए डीएसपी श्री अरविंद दहिया ने थाना सदर बहादुरगढ़ में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बताया कि फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर अनेक व्यक्तियों को तरह-तरह की धमकी देने वाले आरोपी को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की गई है। एसपी श्री वसीम अकरम के दिशा निर्देश अनुसार सीआईए प्रथम बहादुरगढ़ के प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार के नेतृत्व में विशेष रूप से गठित पुलिस की टीम द्वारा वांछित आरोपी को कोलकाता पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की गई है। मामले की विस्तृत जानकारी देते हुए डीएसपी अरविंद दहिया ने बताया कि आरोपी ने अपनी पत्नी के साथ शादी से पूर्व अवैध संबंध रखने के संदेह पर एक व्यक्ति से बदला लेने व उसे बदनाम करने के लिए फर्जी फेसबुक आईडी बनाई थी। आरोपी ने उसी फर्जी फेसबुक आईडी का इस्तेमाल करते हुए अनेक लोगों को तरह-तरह की धमकी देने की वारदात को अंजाम दिया।

जानकारी देते हुए डीएसपी अरविंद दहिया ने बताया कि पिछले कुछ समय से बहादुरगढ़ क्षेत्र के कुछ गणमान्य व्यक्तियों को फेसबुक पर अलग-अलग आपत्तिजनक उनके बारे में कुछ बातें कहीं जा रही थी। कुछ अपमानजनक बातें भी कही जा रही थी और धमकी भी दी जा रही थी। उपरोक्त के संबंध में जैसे ही पुलिस के पास शिकायत आई, उस पर तुरंत कार्यवाही शुरू की गई। प्रारंभिक जांच पड़ताल में पता चला कि किसी व्यक्ति ने चिराग नैन नाम से एक फेसबुक आईडी बना रखी थी। वह अपने आप को लॉरेंस खजूर बता रहा था। वह फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अलग अलग धमकियां दे रहा था कि उसका नाम लॉरेंस खजूर है। अगर किसी को भी कोई वारदात को अंजाम दिलाना है तो वह उससे संपर्क करें। उपरोक्त मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम द्वारा मामले की गहनता से जांच पड़ताल करने के लिए एक स्पेशल पुलिस टीम का गठन किया गया। एसपी साहब ने मामले की जांच पड़ताल की जिम्मेवारी सीआईए प्रथम बहादुरगढ़ के प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार व उनके नेतृत्व में स्पेशल टीम को सौंपी थी। गहनता से जांच पड़ताल के दौरान आईपी एड्रेस से पता चला कि यह आईडी कोलकाता के 24 परगना जिला से चल रही थी। जिसके पश्चात झज्जर पुलिस की स्पेशल टीम झज्जर से कोलकाता के लिए रवाना हुई।

उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल पहुंच कर पुलिस टीम ने सतर्कता से कार्यवाही करते हुए मुख्य आरोपी मुन्ना चौधरी निवासी काटाडंगा रोड गांधीनगर काकीनारा जिला नॉर्थ 24 परगना पश्चिम बंगाल को काबू किया गया। आरोपी को राहदारी रिमांड पर लेकर उसे फ्लाइट से यहां लाया गया। यहां आने के बाद जब उससे पूछताछ की तो पता चला कि उसकी शादी करीब सवा दो साल पहले एक महिला से हुई थी। शादी से पहले वह महिला यही रहती थी। वह बहादुरगढ़ में स्थित एक कंपनी में काम करती थी। शादी से पहले उस महिला के लॉरेंस खजूर नाम के एक व्यक्ति के साथ संबंध थे। जिसके बारे में उसके पति मुन्ना चौधरी को पता चला तो वह उस बात से खफा हो गया और उसने अपनी फेक फेसबुक आईडी से बहादुरगढ़ के पत्रकारों व अन्य अनेक लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजे थे। वह सब के बारे में अलग-अलग आपत्तिजनक बयान करने लगा। उसने फेसबुक पर अलग-अलग पोस्ट करके बताया कि उसने कि सिद्दू मूसेवाला की हत्या में भी उसका हाथ था। इसके अतिरिक्त उसने बहादुरगढ़ शहर के गणमान्य लोगों को भी धमकी दी थी। आरोपी का इसके अतिरिक्त और कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है। आरोपी ने केवल अपनी पत्नी के साथ लॉरेंस खजूर के जो संबंध थे केवल उस को बदनाम करने के लिए एक फेक फेसबुक आईडी बनाई थी। वह फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर आपत्तिजनक पोस्ट करने लगा। उन्होंने बताया कि आरोपी को 24 परगना बंगाल से काबु किया गया है। आरोपी को यहाँ लाकर माननीय अदालत बहादुरगढ़ में पेश किया गया। जहां से आरोपी को 02 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है। मामले की गहनता से जांच पड़ताल की कार्रवाई लगातार जारी है।

ShareShare on Google+0Pin on Pinterest0Share on LinkedIn0Share on Reddit0Share on TumblrTweet about this on Twitter0Share on Facebook0Print this pageEmail this to someone

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post झज्जर पुलिस ने चंद घंटो में सुलझाई ब्लाइंड मर्डर की वारदात, दो आरोपी काबू
Next post चोरी की मोटरसाइकिल के साथ दो नाबालिग सहित तीन आरोपी काबु