November 26, 2022

डेयरी मिल्क चॉकलेट खाते ही बच्चा पहुंचा अस्पताल

एक ब्राण्डेड कंपनी की चॉकलेट खाते ही एक बच्चे को अस्पताल की शरण लेनी पड़ गई। यह वाकया मध्य प्रदेश के संभागीय मुख्यालय शहडोल का है। फफूंद लगे खराब चॉकलेट जिस दुकान से खरीदी गई थी उसके विरुद्ध एक लिखित शिकायत खाद्य एवं औषधि विभाग में दर्ज कराई गई है। खाद्य निरीक्षक ने दूकान से लिया सेम्पल जप्त कर जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा। नगर के युवा संजीव गुप्ता ने बताया कि गुरुवार को उन्होंने आहूजा मार्केट के पास की दुकान महादेव फूट्स एण्ड जूस सेंटर से डेयरी मिल्क कंपनी की चॉकलेट खरीदी। बंद पैकेट की चॉकलेट ले जाकर उन्होंने अपने 12 वर्षीय पुत्र हर्षराज को खाने के लिए दे दी। बच्चे ने जल्दबाजी में चॉकलेट का सेवन कर लिया। उसके बाद उसकी हालत खराब होने लगी। उन्होंने जब बची हुई चॉकलेट देखी तो वह खराब हो चुकी थी। उसमें फफूंद लग चुकी थी। वे तुरंत बच्चे को अस्पताल लेकर पहुंचे और इलाज कराया। डाक्टर ने बताया कि बच्चे को फूड प्वाजिंग है। वार्ड नंबर 17 निवासी संजीव गुप्ता ने दूसरे दिन इसकी लिखित शिकायत जिला खाद्य एवं औषधि विभाग में दर्ज कराई। इसके बाद निरीक्षक श्री जैन उक्त दुकान पहुंचे और सेंपल लिया।

संजीव गुप्ता ने बताया कि जब वे खाद्य निरीक्षक के साथ उक्त दुकान पहुंचे तो दुकानदार पहले तो साफ मुकर गया कि यह टाफी इसी दुकान से खरीदी गई है। उसके बाद दुकानदार ने तसल्ली के लिए अपनी दुकान में लगे सीसी कैमरे की फुटेज को देखा, जिसमें बीते दिनों संजीव गुप्ता रात्रि करीब 9 बजे दुकान में हैं और टाफी के बदले राशि भी देते दिखाई दे रहे हैं। तब कहीं जाकर दुकानदार ने माना कि यह टाफी उन्हीं की दुकान की है। शिकायतकर्ता ने खाद्य एवं औषधि विभाग द्वारा की गई इस कार्यवाही पर असंतोष जताया है। उन्होंने बताया कि निरीक्षक ने उन्हीं का सेम्पल लिया जो दुकानदार ने दिया। उन्होंने कहा कि यदि समय पर यह पता नहीं चलता कि चॉकलेट के कारण ही उनका बीमार हुआ है तो कुछ भी हो सकता था। उन्होंने बताया कि यह मामले को लेकर उपभोक्ता फोरम का दरवाजा खटखटाएंगे।

धर्मेन्द्र जैन, खाद्य एवं औषधि निरीक्षक , शहडोल का कहना है की कैटवरी चॉकलेट में पावडर जैसा पदार्थ निकलने की शिकायत की गई है। बताये गए दूकान से सेम्पेल ले लिया गया है। राज्य औषधि प्रयोगशाला भोपालजांच के लिए भेजा गया है। वहा से जो रिपोर्ट आएगी उसके आधार पर कार्यवाही की जाएगी।

संजय पाण्डेय

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post पूर्वी दिल्ली नगर निगम के स्थायी समिति के अध्यक्ष व आयुक्त ने किया बैंक एन्क्लेव का दौरा
Next post किसानों को खुशहाल बनाने में सभी भागीदार बनें- उमाशंकर गुप्ता