December 3, 2022

दक्षिणी दिल्ली में हटाए गए अवैध कब्जे

दिल्ली सरकार ने दक्षिण दिल्ली स्थित मैदानगढ़ी, आयानगर, जोनापुर और छतरपुर गांव से ग्रामसभा जमीन पर हुए अतिक्रमणों को हटाकर लगभग 70 बीघा ग्रामसभा भूमि को अपने कब्जे में वापस ले लिया। इस जमीन की बाजार कीमत लगभग 30 करोड़ रुपए आंकी गई है। दक्षिणी दिल्ली की जिला मजिस्ट्रेट निहारिका राय ने बताया कि अतिक्रमणों को अदालतों को कई निर्देशो और दक्षिण दिल्ली के उपायुक्त के निर्देशो के अनुसार खंड विकास अधिकारी के कार्यालय में तोड़-फोड़ कर जमीन को वापस लिया है।

निहारिका राय ने लोगों से अपील की है कि वे अपनी कड़ी मेहनत की कमाई को ऐसी ग्रामसभा की जमीन को खरीदने पर न लगायें और भू माफिया से सावधान रहें। किसी भी हाल में इस प्रकार के लोगों के बहकावे और चंगुल में न आएं।

निहारिका राय ने बताया कि अतिक्रमणकारियों से मुक्त करायी हुई भूमि चारदीवारी के लिए सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग को आदेश दे दिए गए हैं।

निहारिका राय ने बताया कि ग्राम सभा भूमि को सरकारी विभागों और सरकारी निकायों जैसे कि दिल्ली नगर निगम, स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग और अन्य सरकारी विभागों को ही जनोपयोगी योजनाओं के लिए ही आवंटित किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि सरकार के पास वापस ली गई ग्राम सभा भूमि को प्राप्त करने के लिए विद्यालयों, अस्पतालों और औषधालयों के आवेदन आये हुए हैं जो सक्षम अधिकारी की संस्तुति के लिए विचाराधीन है। जब तक इन प्रस्तावों पर फैसला नहीं होता तब तक बाढ़ नियंत्रण विभाग इस भूमि की देख -भाल करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post बेटे ने की, पिता की हत्या
Next post नई दिल्ली नगरपालिका परिषद् ने किया हिन्दी प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत