December 7, 2022

दिल्लीवासी शपथ लें, जब भी घर से बाहर जाएं, तो मास्क जरूर पहनें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें- अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्ली के लोगों को फोन काँल व अन्य मीडिया माध्यम से कोरोना से बचने के लिए जागरूक कर रहे हैं। सीएम का काँल दिल्ली के एक करोड़ लोगो को जाएगा। साथ ही वह रेडियो, टीवी, आउटडोर होर्डिंग्स, आँनलाइन संचार माध्यमों से लोगों को कोरोना से बचने और एहतियात बरतने का संदेश देंगे। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल लगातार कह रहे हैं कि दिल्ली में कोरोना के हालात काबू में है लेकिन टेस्टिंग दोगुना होने व कुछ लोगों की लापरवाही से पिछले कुछ दिनों में कोरोना के केस बढ़े हैं। जिसके बाद सीएम ने जनता को सीधा संदेश देने का निर्णय लिया। दिल्ली के दो करोड़ लोगों ने मिलकर कोरोना की लड़ाई में दिल्ली माँडल को स्थापित किया है। जिसकी चर्चा पूरी दुनिया में हो रही है। सीएम अरविंद केजरीवाल चाहते हैं कि दिल्ली माँडल कोरोना से लड़ने का एक आदर्श माँडल बना रहे। इसमें कोई चूक या लापरवाही न हो। इसी कारण उन्होंने सीधा संवाद स्थापित करने के लिए यह जागरूकता अभियान प्रारंभ किया है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कुछ लोग कोविड-19 को लेकर लापरवाह हो गए हैं। वो घर से निकलने के दौरान मास्क नहीं पहन रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी नहीं कर रहे हैं। कुछ लोग कोविड टेस्ट भी नहीं करा रहे हैं, जबकि दिल्ली सरकार टेस्ट मुफ्त करा रही है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली वासियों से शपथ लेने की अपील करते हुए कहा कि अब जब भी घर से बाहर जाएं, तो मास्क जरूर पहनें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की यह अपील फोन काँल, एफएम और अन्य मीडिया माध्यम से प्रसारित की जा रही है, ताकि दिल्ली वासी कोरोना संक्रमण को रोकने के प्रति जागरूक हो सके। सीएम का फोन दिल्ली के तमाम लोगों के पास पहुंच रहा है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने अपने संदेश में कहा कि हम सब 2 करोड़ दिल्ली वासियों ने मिल कर बड़ी मुश्किल से करोना को कंट्रोल किया है। अब हमें किसी भी हालत में इसे बढ़ने नहीं देना है। पिछले कुछ दिनों से हम थोड़े लापरवाह हो गए हैं। मास्क नहीं पहनते, सोशल डिस्टेंसिंग नहीं करते हैं।

उन्होंने कहा, ‘मैं आपका भाई हूं, आपका बेटा हूं, आपने मुझे अपने परिवार का हिस्सा माना है। मैं नहीं चाहता अपने परिवार में कोई भी बिमार हो। यह बहुत गंदी बीमारी है। इसलिए आज आप से कुछ मांग रहा हूं। कसम खाओ कि जब भी घर से बाहर निकलोगे, मास्क पहन के निकलोगे, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करोगे।’

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा कि कुछ लोग आजकल टेस्ट भी नहीं करवा रहे। किसी काम से मेरे पास एक आदमी का फोन आया। बात -बात में उसने बोला कि कुछ दिन से उसको बुखाार है। मैंने पूछा, टेस्ट कराया। बोला कि नहीं। मैंने पूछा क्यों? तो कहता है कि आजकल तो सब अपने आप ठीक हो जाते हैं, मैं भी अपने आप ठीक हो जाऊंगा। मतलब? ये कोई बात हुई? मैं तो दंग रह गया। आपको पता है, इस तरह वो अपनी जान खतरे में डाल रहा है और अपने आसपास व अपने परिवार के लोगों को भी करोना कर देगा। टेस्ट कराने में समस्या क्या है? दिल्ली सरकार ने टेस्ट मुफ्त कर रखे हैं। दिल्ली में जगह जगह टेस्ट हो रहे हैं। तो फिर क्यों नहीं टेस्ट करवाते? अगर आपको कोई भी सिम्प्टम हो या फिर आप किसी ऐसे व्यक्ति के सम्पर्क में आए, जिसे कोरोना है, तो आप तुरंत बिना देर किए जाकर तुरंत टेस्ट करवाओ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post 20 साल शिक्षा लेने के बाद 80% बच्चों को रोजगार योग्य नहीं समझा जाता, इसे सुधारना जरूरी-मनीष सिसोदिया
Next post नेता सदन योगेश वर्मा ने निगमायुक्त को पार्कों की लाईटें, हाई मास्ट लाईटें व स्ट्रीट लाईटें को ठीक करवाने के संबंध में लिखा पत्र