November 26, 2022

दिल्ली के सत्यवादी राजा हरीश चन्द्र अस्पताल में अब होगा कोरोना मरीजों का ईलाज

दिल्ली सहित समस्त भारतवर्ष में लगातार कोरोना संक्रमित मामलों में इजाफा देखने को मिल रहा है। इसी को देखते हुए सरकार द्वारा जगह जगह कोविड अस्पताल की शुरुआत की जा रही है। इसी फेहरिस्त में अब दिल्ली के नरेला स्थित सत्यवादी राजा हरीश चन्द्र अस्पताल को भी कोविड अस्पताल घोषित कर दिया गया है। यहां अब केवल कोरोना संक्रमित मरीजों का ही ईलाज किया जाएगा।

राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। राजधानी दिल्ली में दिन प्रतिदिन कोरोना संक्रमित मामलों के नए आंकड़ों दर्ज हो रहे हैं। मौजूदा स्थिति की बात की जाए तो दिल्ली में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख पार कर चुका है। कोरोना के बढ़ते मामलों ने सरकार की नींद उड़ा रखी है। शायद इसी का नतीजा है कि दिल्ली में लगातार कोविड अस्पतालों की स्थापना की जा रही है। इन्हीं में समय समय पर स्थिति को देखते हुए दिल्ली के अस्पतालों को भी कोविड अस्पतालों में तबदील किया जा रहा है। इसी फेहरिस्त में अब दिल्ली के नरेला स्थित सत्यवादी राजा हरीश चन्द्र अस्पताल को भी दिल्ली सरकार ने कोविड अस्पताल में बदल दिया गया है। लिहाजा अब इस अस्पताल में केवल कोरोना संक्रमित मरीजों का ईलाज किया जाएगा। इसके अलावा अब यह अस्पताल साधारण मरीजों के लिए बंद कर दिया गया है।

200 बेड वाला दिल्ली सरकार का यह अस्पताल अब पूरी तरह से कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए समर्पित कर दिया गया है। गौरतलब है कि दिल्ली सरकार ने इस अस्पताल को बीते 2 जून को कोविड अस्पताल में तबदील कर दिया गया है। इसके बाद से ही इस अस्पताल की लगभग सारी व्यवस्थाएं बदल दी गई है। बाहर से लेकर अंदर तक सुरक्षा को लेकर भी सभी सुरक्षाकर्मी अलर्ट मोड में आ गए हैं। साथ ही इस अस्पताल को रेड जोन और ग्रीन जोन में भी बांट दिया गया है, और रेड जोन में पूरी तरीके से प्रवेश वर्जित किया गया है।

इस संबंध में अधिक जानकारी देते हुए सत्यवादी राजा हरीश चन्द्र अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट ( चिकित्सा अधीक्षक) संजय जैन ने बताया कि 200 बेड का यह पूरा अस्पताल कोविड अस्पताल घोषित कर दिया गया है। हालांकि वर्तमान में इस अस्पताल में 85 मरीज भर्ती हैं जिनका ईलाज चल रहा है। वहीं कोरोना मरीजों के ईलाज के दौरान दी जाने वाली सुविधाओं पर बताया कि इस अस्पताल में आईसीयू, ऑक्सीजन सिलेंडर, वेंटिलेटर सरीखे सारी सुविधाएं उपलब्ध है। हालांकि अभी आईसीयू वेंटिलेटर नहीं है जो भी जल्द आने की बात की जा रही है। वहीं दूसरी ओर कोरोना मरीजों के ईलाज मे लगे सभी मेडिकल स्टाफ के लिए भी अस्पताल परिसर में ही खास सुविधा मुहैया कराई जा रही है। जबकि मरीजों के लिए भी खास सुविधाओं का ख्याल रखा गया है, और साथ ही सभी मरीजों की सीसीटीवी कैमरे से भी निगरानी की जा रही है। ताकि जरूरत पड़ने पर मरीजों को हर संभव सुविधाएं मुहैया कराई जा सके।

बहरहाल दिल्ली में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमित मामलों को देखते हुए सरकार हर प्रयास में जुटा हुई है, और इसी को देखते हुए सरकार लगातार बेड की व्यवस्था करने में लगी ताकि किसी भी परिस्थिति में मरीजों के ईलाज में कोई भी समस्या ना हो और इसी को लेकर इस अस्पताल को अब कोविड अस्पताल घोषित कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर दिल्ली में पीडीएस कार्डधारकों को नवंबर तक मुफ़्त राशन देने का फैसला
Next post Cabinet approves the proposal to extend the EPF contribution 24% (12% employees share and 12% employers share)