December 4, 2022

नगर की सड़कों में जानवरों का कब्जा,आए दिन हो रही दुर्घटनाएं-मालिको पर दर्ज हो प्रकरण

अनूपपुर। नगरपालिका क्षेत्र अनूपपुर की सड़कों पर पालतू जानवरो का कब्जा अब प्राणघातक होता जा रहा है। पशु मालिक दूध दुहने के बाद उन्हे सड़कों पर बेखौफ खुला छोड रहे है जिसके कारण आए दिन दुर्घटनाएं घट रही है। नगरपालिका प्रशासन द्वारा इन जानवरो व इनके मालिको के विरूद्ध कोई कार्यवाही न होने से आम जनजीवन पर न केवल भय बढा है अपितु लोगो की परेशानिया भी बढती जा रही है। लोग अब प्रशासन से मांग कर रहे है कि सड़क में खुलेआम घूमने वाले आवारा/पालतू पशुओं के साथ-साथ इनके मालिको के विरूद्ध भी आपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाए।

शाम होते ही सड़कों पर हो जाता है कब्जा
नगर पालिका क्षेत्र अनूपपुर अंतर्गत अमरकंटक तिराहा से इंदिरा चौक, रेलवे फाटक, बस स्टैंड, सामतपुर, बाजार क्षेत्र में शाम होते ही सैकडो गाय, बैल, बछडो का कब्जा हो जाता है। ये जानवर लड़ते हुए आसपास से गुजर रहे राहगीरो को घायल करते है तो कई बार इनके कारण वाहन दुर्घटनाग्रस्त भी हो रहे है जिसके कारण यात्री गंभीर घायल होकर अस्पताल पहुंच रहे है। विगत दिवस पेट्रोल पंप के सामने अमरकंटक रोड़ में एक युवक सड़को में डेरा जमाए बैठे जानवरो से उस वक्त जा भिडा जब सामने से आ रहे वाहन की तेज लाईट के कारण उसे सडक में कुछ भी दिखना बंद हो गया। नगर पालिका करे कार्यवाही
आवारा जानवरो के सड़कों पर आने से जनता में न केवल नाराजगी है अपितु वे नगरपालिका परिषद के हाका गैंग से इन जानवरों के विरूद्ध कार्यवाही की मांग भी कर रहे है। मांग यह भी हो रही है कि इन जानवरो के मालिकों को चिन्हित कर इन्हे चेतावनी दी जाए और इस पर भी न मानने पर इनके विरूद्ध आपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाएं। नगरपालिका के सूत्र इस बावत कहते है कि जानवरो को पकड़कर कांजी हाऊस में बंद किया जाता है तो लोग दुधारू जानवरों को प्रभावशाली राजनैतिकों से दबाव डालकर या डरा धमकाकर जानवरो को छुडा ले जाते है। कई बार ये जानवर महीनो यहां बंद रहते है तब इनकी देखभाल की समस्या भी उठ खडी होती है। आम जनता की अपेक्षा है कि दो बार से अधिक जानवरो को सड़को पर खुला छोडने पर न केवल जानवरो को नीलाम किया जाए अपितु इनके मालिको के विरूद्ध भी कार्यवाही होनी चाहिए। लोगों ने कहा कि यह बर्दाश्त से बाहर है कि लोग दूध निकालकर इनका लाभ ले रहे है और आम जनता के लिए मुसीबते खडी कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post गुजर-बसर के लिए दी गई जमीन पर बन रहा गोदाम,एसडीएम के स्थगन आदेश के बाद भी जारी है निर्माण कार्य
Next post फौती नामांतरण व बंटवारा कम्प्यूटर में दर्ज करने कलेक्टर ने जारी किए आदेश