December 7, 2022

बाल भारती स्कूल के अभीभावक ने स्कूल फीस का दबाव बनाने वाले स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की

नई दिल्ली: कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते खतरे के बीच सभी स्कूल बंद हैं. लेकिन फिर भी स्कूल प्रबंधन की ओर से स्कूल फीस का दबाव बनाने का मामला सामने आया है. जिसके बाद अब पेरेंटस ने आप के विधायक राघव चढ़ा ,आप विधायक पटेल नगर से राज कुमार आनंद को विज्ञापन सोपा

सैकड़ो अभी भावक ने दिल्ली सरकार व केंद्र सरकार को दी चेतावनी

अभी भावक ने विज्ञापन दे कर आप विधायक पटेल नगर से राज कुमार आंनद साथ-साथ शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया से मांग की है कि कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन की वजह से 3 महीने की फीस माफ की जाए और जब तक स्कूल नहीं खुलते, ऑनलाइन क्लास हो रही है तब तक हर महीने की फीस लेने के निर्देश दिए जाएं, क्योंकि इस समय लोगों के पास किसी प्रकार का भी रोजगार का कोई साधन नहीं है.

डॉ. शिखा गुप्ता ने कहा कि आज स्कूल प्रबंधक शिक्षकों की सैलरी का बहाना बनाकर लगातार बच्चों और अभिभावकों के ऊपर दबाव बना रहे हैं और ऑनलाइन क्लास में ना बैठने के साथ-साथ स्कूल में से भी नाम काटने की धमकी दे रहे हैं. जबकि बच्चों का स्कूल में जब एडमिशन होता है तब से लेकर जब तक बच्चा स्कूल में रहता है अलग-अलग तरह के कई फंड स्कूल प्रबंधन उनसे वसूलता है, उसका इस्तेमाल कहां पर होता है? इतना पैसा होने के बावजूद भी स्कूल प्रबंधक ऐसी हरकतें कर रहा है, बड़ी शर्म की बात है.

L. S. Bindra ने कहा कि अगर जियादा दबाव होने से अभी भावक ने सुसाइड करलेता है इस का जिमेवार कोन हो केंद्र सरकार या दिल्ली जब कि अभिभावकों की नॉकरी भी नही है जबकि फैक्ट्री संचालक, दुकानदार, बैंक्वेट हॉल और होटल संचालक समेत कई लोग स्टाफ को अपने पास से तनख्वाह दे रहे हैं. क्या स्कूल प्रबंधक के पास इतना फंड होने के बावजूद अपने पास से शिक्षकों को सैलरी नहीं दे सकता

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post सरकार ने दिल्ली वासियों को भूकंप जैसी आपदा से बचाने के लिए जागरूकता अभियान शुरू किया- अरविंद केजरीवाल
Next post एमएचए ने अनलॉक 3 के लिए जारी किए दिशानिर्देश