October 2, 2022

बुढार पुलिस ने बहन की हत्यारी महिला को किया गिरफ्तार

बुढार थाना क्षेत्रांतर्गत दिनांक 04.07.2020 को ग्राम पांडखेर में एक महिला ने पति के साथ प्रेम प्रसंग के चलते फुफेरी बहन की कुल्हाड़ी से मारकर हत्या करने का मामला सामने आया। मिली जानकारी के अनुसार हीरालाल केवट लॉकडाउन के दौरान अपने गृह ग्राम पांडखेर वापस आया था उसी दौरान उसका परिचय उसकी पत्नी रोशनी केवट की फुफेरी बहन ललिता केवट से हुआ दोनो में जान पहचान बढ़ी और आपस में प्रेम संबंध बन गया। रोशनी केवट अपने पति और बहन ललिता के बीच प्रेम प्रसंग का संदेह होने पर कई बार ललिता से लड़ाई झगड़ा कर चुकी है। दिनांक 04.07.2020 के सुबह करीब 07ः30 बजे संदेह के आधार पर रोशनी केवट ने ललिता केवट का पीछा किया और अपने पति हीरा केवट से फोन पर बात करते रंगे हाथांे पकड़ लिया व अपने गुस्से पर काबू न कर पाई और निस्तार हेतु डांेगरी तरफ जा रही ललिता के गर्दन पर कुल्हाड़ी से वार किया जिससे ललिता के गर्दन व सिर में चोट आने से उसकी मौत हो गई। सूचना मिलते ही बुढार पुलिस ने मामले की गंभीरता को दृष्टिगत रखते हुए वरिष्ठ अधिकारियों को सम्पूर्ण घटनाक्रम के संबंध में सूचित कर तत्काल घटना स्थल पहुंचकर रोशनी केवट को पुलिस अभिरक्षा में लिया। पुलिस द्वारा पूछताछ पर रोशनी ने अपना अपराध स्वीकर किया। जिस पर पुलिस ने आरोपिया रोशनी केवट पति हीरालाल केवट उम्र 25 वर्ष निवासी पांडखेर को उसकी फुफेरी बहन मृतिका ललिता केवट पति रामनारायण केवट उम्र 26 वर्ष निवासी पांडखेर की हत्या करने पर उसकेे विरूद्ध धारा 302 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध किया जाकर गिरफ्तार किया है। उक्त अपराध विवेचना एवं आरोपिया की गिरफ्तारी थाना प्रभारी बुढार निरीक्षक महेन्द्र सिंह के नेतृत्व में उनि0 एल0बी0 तिवारी, विपिन पाल, सउनि0 शिवप्रसाद, आर0 राकेश खन्ना, महिला आर0 श्रुति सिंह एवं मीना की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

ShareShare on Google+0Pin on Pinterest0Share on LinkedIn0Share on Reddit0Share on TumblrTweet about this on Twitter0Share on Facebook0Print this pageEmail this to someone

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post अपराधियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करें:मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
Next post केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दिल्ली में 250 आइसीयू बेड्स समेत 1000 बेडवाले सरदार वल्ल्लभभाई पटेल कोविड अस्पताल का दौरा किया