December 9, 2022

लोक निर्माण विभाग ने मनाया अपना 53वाँ दिवस

लोक निर्माण विभाग के सचिव, अरूण बरोका ने इस अवसर पर बताया कि दिल्ली को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का शहर बनाने में लोक निर्माण विभाग सतत कार्यशील है। उन्होंनेभविष्य की योजनाओं से भी अवगत कराया। वर्तमान परिवेश में पीडब्ल्यूडी नव निर्मित निर्माण तकनीकों द्वारा दिल्ली के विकास की ओर अग्रसर है। दिल्ली की अधिक आबादी व योजनारहित विकास को योजनाबद्ध तरीके से करके नई तकनीक के साथ पीडब्ल्यूडी को अपनी कार्यशैली में और कार्यकुशलता के साथ वर्तमान में बनाई जा रही सड़कों एवं निर्माण संबंधित समस्याओं को आवशयकतानुसार पूरा करने में समर्थ होगा। उन्होंने आगे बताया कि लोक निर्माण विभाग कई परियोजनाओं में पीड़ागढ़ी चैक पर अंडर पास, मंगल पांडे मार्ग के काॅरिडोर की सुधार योजना, आश्रम चैक को यातायात के लिए सुगम बनाना, महरौली से बदरपुर काॅरिडोर का सुधार, कौंडली के आस-पास के काॅरिडोर का सुधार, ककरोला मोड़ से वजीराबाद के उपर नजफगढ़ नाले पर एलीवेटेड रोड, आईटीओ को यातायात के लिए सुगम बनाना, कालिदी कुंज बाईपास को सुगम बनाना, आईआईटी गेट से एनएच 8 तक के काॅरिडोर का सुधार और अंधेरिया मोड़ से महिपालपुर तक के काॅरिडोर का सुधार पर कार्य शामिल है।

इस अवसर पर लोक निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता, दिनेश कुमार ने बताया कि वर्ष 1961 से स्थापित पीडब्ल्यूडी ने दिल्ली का पहला फ्लाई-ओवर आई. टी. ओ. में रिंग रोड पर वर्ष 1981 में बनाया। दिल्ली की पहली सरकारी बहुमंजिला इमारत पुलिस हैडक्वार्टर का निर्माण भी पी. डब्ल्यू. डी. ने ही 1971 में किया। पीडब्ल्यूडी अभी तक दिल्ली में 76 फ्लाईओवर, 687 स्कूल, 45 अस्पताल, 15 कोट, एवं अनेक डिस्पेंसरियों का निर्माण कर दिल्ली-वासियों की सेवा में समर्पित कर चुकी है। उन्होंने आगे यह भी बताया कि दिल्ली में निर्मित मुख्य फ्लाई ओवर जैसे बारापूला, एम्स, सफदरजंग, अप्सरा बार्डर, धौलाकुआॅ भी पी. डब्ल्यू. डी द्वारा ही बनाए गए हैं। इसके अतिरिक्त त्यागराज स्टेडियम एवं छत्रसाल स्टेडियम भी पीडब्ल्यूडी ने ही बनाए है। दिल्ली की 1250 किलोमीटर से भी अधिक सड़कें पीडब्ल्यूडी द्वारा निर्मित, सौन्दर्यीकरण, निर्माण एवं रखरखाव का कार्य भी कर रहा है। विभाग द्वारा निर्मित कई फ्लाई ओवर, सब-वे, स्टेडियम, बिल्डिंग इत्यादि को राष्ट्रीय एवं अंतर्रा’ट्रीय पुरस्कारों से नवाजा गया है।

मुख्य सचिव ने लोक निर्माण विभाग की उपलब्धियों एवं फ्लाईओवर के निर्माण की लागत में कमी करने से संबंधित दो पुस्तकों का विमोचन भी किया। इस अवसर पर पीडब्ल्यूडी द्वारा अपनी उपलब्धियों पर एक डाॅक्यूमेंट्री फिल्म भी दिखाई गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post पीडब्ल्यूडी अब तक बना चुका है 76 फ्लाई ओवर, 687 स्कूल, 45 अस्पताल और 15 अदालत परिसर:दिल्ली सरकार
Next post स्वतंत्रता सैनानी राम चरण अग्रवाल को उनके पुण्य तिथि पर विनम्र श्रद्धांजलि