November 29, 2022

साइबर हेल्प डैस्क की विभिन्न टीमों द्वारा सार्वजनिक स्थानों पर लोगों को साइबर अपराध के प्रति किया गया जागरूक

झज्जर/बहादुरगढ़

साइबर क्राइम की घटनाओं को रोकने तथा आमजन को साइबर अपराध के प्रति जागरूक करने के लिए झज्जर पुलिस द्वारा विशेष जागरूकता अभियान चलाया गया है। आमजन को जागरूक करने व उनकी मदद के उद्देश्य से विशेष रूप से थाना स्तर पर स्थापित किए गए साइबर हैल्प डैस्क की विभिन्न टीमों द्वारा आमजन को साइबर अपराधों के प्रति जागरूक करने के लिए शैक्षणिक संस्थानों एवं सार्वजनिक स्थानों पर विशेष अभियान जागरूकता चलाया गया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती भारती डबास के मार्गदर्शन में साइबर हैल्प डेस्क की विभिन्न टीमों द्वारा आमजन को ऑनलाइन साइबर अपराधों की रोकथाम करने तथा लोगों को साइबर अपराधों के प्रति सजग करने के उद्देश्य से अभियान चलाया गया है। एसपी झज्जर श्री वसीम अकरम आईपीएस के दिशा निर्देशानुसार साइबर क्राइम सैल झज्जर की देखरेख में विशेष अभियान के तहत बुधवार को जिला के विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों तथा सार्वजनिक स्थानों पर विद्यार्थियों तथा आम लोगों को साइबर क्राइम के प्रति जागरूक किया गया। विशेष जागरूकता कार्यक्रम के दौरान विद्यार्थियों तथा आम लोगों को साइबर अपराधियों द्वारा अपनाए जाने वाले ठगी के तौर-तरीकों तथा उनसे बचाव व सुरक्षा के लिए आवश्यक सावधानियां रखने बारे जागरूक किया गया।

जिला के विभिन्न थानों की साइबर हैल्प डैस्क की टीमों द्वारा अभियान के तहत स्कूल के स्टाफ तथा विद्यार्थियों को साइबर अपराधों बारे विस्तृत जानकारी दी गई। जानकारी देते हुए साइबर विशेषज्ञों ने बच्चों व स्टॉफ सदस्यों को किसी भी सूरत में अपने बैंक खाता से संबंधित कोई भी जानकारी अथवा पासवर्ड या OTP इत्यादि को किसी से भी शेयर ना करने , OLX पर कुछ भी सामान खरीदने या बेचने की सुरत में रुपये प्राप्त करने या देने वाले लिंक पर क्लिक न करने, किसी अनजान के कहने पर कोई भी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन न करने तथा साइबर अपराध से सुरक्षा के अन्य तौर-तरीकों बारे जागरूक किया गया। उपरोक्त के अलावा विभिन्न टीमों द्वारा आम लोगों से आव्हान करते हुए कहा गया कि फर्जी फोन कॉल या एसएमएस पर नोकरी या लॉटरी का झांसा देना अथवा ऑनलाइन फार्म या कोरियर प्राप्त करने से सम्बंधित कॉल आने पर व्यक्तिगत जानकारी साँझा नहीं की जानी चाहिए। सस्ता लोन, शादी का झांसा, मोबाइल टॉवर लगवाने वाले विज्ञापन पर या अनजान फोन कॉल आने पर कोई व्यक्तिगत जानकारी शेयर ना करने बारे सजग किया गया। व्हाट्सएप या ईमेल पर अज्ञात नंबर से आए संदिग्ध किसी भी लिंक को ओपन ना किया जाए। साइबर जागरूकता अभियान के तहत विभिन्न स्थानों पर आयोजित कार्यक्रमों के दौरान साइबर हेल्प डेस्क के कर्मचारियों के अतिरिक्त बड़ी संख्या में आम लोग भी मौजूद रहे। साइबर क्राइम के प्रति आम लोगों को जागरूक करने का अभियान लगातार जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post सेमिनार के दौरान विद्यार्थियों को यातायात नियमों बारे जानकारी देते हुए किया जागरूक
Next post अपहरण, मारपीट व छीनाझपटी के मामले में वांछित एक आरोपी गिरफ्तार