November 26, 2022

सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणों की विभागवार समीक्षा करें अधिकारी- कलेक्टर

शहडोल 29 जून 2020- कलेक्टर एवं जिला मजिस्टेªट डॉ. सतेन्द्र सिंह द्वारा कलेक्टर सभागार में समय-सीमा की बैठक आयोजित की गई। आयोजित बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत पार्थ जायसवाल, अपर कलेक्टर अनिल वर्मा, संयुक्त कलेक्टर रमेष सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ0 राजेष पाण्डेय, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सोहागपुर धर्मेन्द्र मिश्रा, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्री आर. के. श्रोती, जिला षिक्षा अधिकारी श्री रणमत सिंह, उप संचालक कृषि श्री जे.एस. पेन्द्राम, उपायुक्त सहकारिता शकुन्तला प्रधान, उप संचालक पषु चिकित्सा डॉ. जितेन्द्र सिंह, मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री अमित तिवारी, डीपीसी डॉ. मदन त्रिपाठी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहें।

बैठक में कलेक्टर द्वारा लोक सेवा गारंटी अधिनियम के अन्तर्गत प्रदत्त सेवाओं, वनाधिकार पत्रों, जाति प्रमाण पत्र विषेष अभियान, सीएम हेल्पलाईन, एक हजार दिनों से अधिक लंबित प्रकरणों की समीक्षा की। उन्होने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को निर्देषित किया कि 1 जुलाई से 15 जुलाई 2020 तक शासन द्वारा शुरू किये गए कोरोना संक्रमण संबंधित सर्वें में पटवारी को शामिल कर जाति प्रमाण पत्र, नामांतरण बॅटवारा आदि का भी आवेदन प्राप्त कर उनका पोर्टल में निराकरण करना सुनिष्चित करें। कलेक्टर ने एक हजार दिनों से अधिक लंबित प्रकरणों के संबंध में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को अर्द्वषासकीय पत्र के माध्यम से पत्र भेजने हेतु कार्यालय अधीक्षक को निर्देषित किया गया। कलेक्टर ने बैठक मंे निर्देषित किया सभी एसडीएम एवं तहसीलदार के कार्यालय में बैटरी इनवाटयटर अनिवार्य रूप ये लगाया जाए।

बैठक में कलेक्टर ने लोक सेवा एवं ई गर्वेनेंस प्रबंधक निर्देषित किया कि सीएम हेल्पलाईन की विभागवार रैकिंग बनाई जाए जिससे विभागवार समीक्षा की जा सकें। सीएम हेल्पलाईन के प्रकरणोे के निराकरण में स्वास्थ्य विभाग एवं कृषि विभाग द्वारा ए ग्रेट अर्जित किया गया। कलेक्टर ने सभी विभागीय कार्यालय प्रमुखों को निर्देषित किया कि सभी लेविल में लंबित प्रकरणों का समीक्षा करें एवं प्रदेष स्तर पर अपनी ग्रेडिंग सुधारें। कलेक्टर ने अपर कलेक्टर श्री अनिल वर्मा को निर्देष दिए कि सीएम हेल्पलाईन के लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिए अलग से बैठक लेकर निराकरण कराना सुनिष्चित करें। कलेक्टर ने रोजगार सेतु पोर्टल, संबंल योजना, श्रम सिद्वि योजना आदि प्रगति की समीक्षा की। कलेक्टर ने बैठक में निर्देष दिए कि लेवर इस्पेक्टर जनपदांे में जाकर मुख्य कार्यपालन अधिकारी से सम्पर्क कर प्रवासी मजूदरो के रोजगार से संबंध में जानकारी अपडेट करे। इसी प्रकार गौषाला निर्माण के संबंध में उप संचालक पषु चिकित्सा को निर्देषित किया कि अनुविभागीय राजस्व के पास बैठ कर गौषाला निर्माणाधीन एवं निर्मित भवनों के भूमि को आरक्षित कराना सुनिष्चित करें। इसी प्रकार बैठक में कलेक्टर नेे खरीफ फसल की स्थिति एवं बोनी के प्रतिषत प्रगति के संबंध में उप संचालक कृषि से जानकारी प्राप्त कर उसमें प्रगति लाने के निर्देष दिए।
समा0 क्र0 411

125 कार्य दिवस आधरित प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की बैठक सम्पन्न
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के क्रियान्वयन के लिए प्रभावी कार्ययोजना बनाकर कार्य करे अधिकारी- कलेक्टर

शहडोल 29 जून 2020- कलेक्टर एवं जिला मजिस्टेªट डॉ. सतेन्द्र सिंह द्वारा कलेक्टर सभागार में 125 कार्य दिवस आधरित प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की बैठक आयांेजित की गई। आयोजित बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री पार्थ जायसवाल, अपर कलेक्टर श्री अनिल वर्मा, उत्तर वनमण्डलाधिकारी श्री देवान्ष शेखर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री एच.एस. धुर्वें, उप संचालक कृषि श्री जे.एस. पेन्द्राम, कृषि वैज्ञानिक डॉ मृगेन्द्र सिंह, उप संचालक पषु चिकित्सा डॉ. जितेन्द्र सिंह, मुख्य कार्यपालन अधिकारी डब्ल्यू डीआरडी सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहें।
आयोजित बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री पार्थ जायसवाल ने बताया कि यह जनहितकारी योजना प्रवासी मजदूरो को रोजगार मुहैया कराने के लिए संचालित की गई, जो देष के 112 जिलों में पायलेट स्कीम के रूप में क्रियान्वित की गई है। इस योजना के अन्तर्गत शहडोल जिला को भी शामिल किया गया है। उन्होने बताया कि 125 कार्य दिवस आधरित प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अन्तर्गत जिले में 25 तरह के निर्माण कार्यांे को प्रारंभ कर प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराना है। उन्होने बताया कि स्वच्छ मिषन के अन्तर्गत सामुदायिक स्वच्छता परिसर, 15 वें वित्त आयोग के अन्तर्गत ग्राम पंचायतों के भवनो का निर्माण तथा फाईनेंस कमीषन फंड के तहत कार्य शामिल है । इसी प्रकार महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत जल संवर्धन एवं सिंचाई के कार्य, कुओं का निर्माण, पौधारोपण, बागवनी, ऑगनवाडी केन्द्रों का निर्माण, तालाबो का निर्माण पषु पालन शेड, मुर्गी पालन शेड, बकरी पालन शेड, वर्मी कम्पोटिंग कार्य शामिल किया गया है। इसी प्रकार प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण के अन्तर्गत आवास निर्माण योजना मंे शामिल है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत ने बताया कि प्रधानमंत्री सड़क योजना के अन्तर्गत ग्रामीण सम्पर्क सड़क, तेल एवं तरल अवषिष्ट प्रबंधन, जल जीवन मिषन आदि के कार्य प्रमुखता से शामिल है । इसके अतिरिक्त रेल्वे के कार्य, राष्ट्रीय राजमार्ग के कार्य, जिला खनिज मद के कार्य, के. बी. के प्रषिक्षण कार्य, पीएम कुसुम कार्य, श्यामा प्रसाद मुखर्जी हर्बल मिषन के कार्य भी शामिल किये गए है।
कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह ने सभी संबंधित विभाग के अधिकारी केा निर्देषित किया कि 125 कार्य दिवस आधरित प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अन्तर्गत जिले में चल रहे कार्याें में प्रवासी मजदूरों को प्राथमिकता के आधार पर रोजगार उपलब्ध कराया जाए तथा जो कार्य जिले में संचालित नही है उनके लिए प्रस्ताव भी भेजवाया जाए। कलेक्टर ने कहा कि पौधारोपण कार्य के अन्तर्गत वन विभाग, मनरेगा एवं अन्य विभागों द्वारा अलग से अंकित किया जाए। 30 जून 2020 को 11ः30 बजे एनआईसी शहडोल में नोड़ल अधिकारी भारत सरकार द्वारा इस योजना के संबंध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जानकारी प्रदान की जाएगी। सभी संबंधित अधिकारी अनिवार्य रूप से वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग में उपस्थित होना सुनिष्चित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post कोरोना योद्धा डॉक्टर असीम गुप्ता के परिवार को देंगे एक करोड़ की सम्मान राशि- अरविंद केजरीवाल
Next post कौशल विकास आत्म-निर्भर भारत और गरीब कल्याण रोजगार अभियान का आधार होगा: डॉ. महेंद्र नाथ पांडे