December 9, 2022

हत्या व डकैती के दोषियों को उम्र कैद

अनूपपुर। आरक्षी केन्द्र जैतहरी के अंतर्गत ग्राम पिपरहा तालाब के पास रात 8.00 बजे शोभा राठौर के घर डकैती करने की योजना तथा उसी रात 10.30 बजे ग्राम जुनहा टोला क्योटार में शोभा लाल राठौर के घर में डकैती के दौरान समूह में से किसी के द्वारा शोभालाल राठौर की हत्या किए जाने के आरोप में अनूपपुर प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश सनत कुमार कश्यप ने प्रकरण क्रमांक 74/10 अपराध में अभियुक्त लीलाधार उर्फ लीलू पिता रामपाल कुशवाहा एवं हरिलाल पिता छोटेलाल विश्वकर्मा निवासी धनगवां जैतहरी को अपराध में दर्ज भादंवि की धारा 460 में 10 वर्ष का सश्रम करावास एवं 1000 रूपये का अर्थदण्ड एवं धारा 397 में 10 वर्ष की सश्रम करावास एवं 1000 रूपये का अर्थदण्ड, भादंवि की धारा 302 व 34 में आजीवन कारावास एवं 5 हजार रूपये अर्थदण्ड के साथ धारा 201 में 5 वर्ष की सश्रम कारावास एवं 1 हजार रूपये के अर्थदण्ड से दंडित किया है। इसके अलावा अभियुक्त राकेश उर्फ लाल को भादंवि की धारा 411 के अपराध में 3 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 1 हजार रूपये के अर्थदण्ड की सजा सुनाया गया है। लोक अभियोजक रामनरेश त्रिपाठी के अनुसार घटना चार वर्ष पूर्व 21 मार्च 2010 की रात्रि 8.00 बजे के आसपास आरक्षी केन्द्र जैतहरी के पास ग्राम पिपरहा में रात्रि 8.00 बजे शोभा राठौर के घर डाका डालने की साजिश रची गई, जिसमें अरविंद उर्फ सोनू, लीलाधर उर्फ लीलू, एव हरिलाल शामिल हैं, जबकि उसी रात चंद दूर पर ग्राम जुनहा टोला क्योटार में शोभालाल राठौर के घर डकैती करते हुए समूह में से किसी सदस्य द्वारा शोभालाल राठौर की हत्या कर दी। इस दौरान परिवार की शशि राइौर के साथ घोर उपहति की। जहां घटना के बाद शशि राठौर ने इसकी सूचना थाने में दर्ज कराई जिस पर पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ शून्य पर मामला कायम कर विवेचना की। वहीं मर्ग इंटीमेशन को 11/10 के रूप में पंजीबद्ध किया गया। जांच के दौरान विवेचक सतीष द्विवेदी ने अग्रिम विवेचना कर आरोप पत्र न्यायालय में पेश किया। जिस पर प्रथम अपर सत्र न्यायालय ने अभियोजन पक्षों के कथन एवं लोक अभियोजक रामनरेश त्रिपाठी द्वारा रखे गए तर्क को सुनने के बाद यह सजा सुनाई गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post मूल्यवान भूमि के लीज का नहीं हो रहा नवीनीकरण-अनूप मुखर्जी
Next post SPECIAL STAFF BUSTED AN INTERSTATE GANG, ENGAGED IN SUPPLYING ILLEGAL FIREARMS