December 2, 2022

12 अगस्त, 2020 को झंडेवाला देवी मंदिर में जन्माष्टमी उत्सव मनाया जाएगा

श्री कृष्ण जन्मउत्सव हिंदूओं का एक प्रमुख पर्व है जो बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है । हर वर्ष की भांति इस बार भी दिनांक 12 अगस्त, 2020 को झंडेवाला देवी मंदिर में जन्माष्टमी उत्सव मनाया जाएगा। मंदिर को भगवान श्री कृष्ण के जीवन पर आधारित भव्य झाँकियां बना कर सजाया गया है । इन झांकियों में प्रमुख कंस की जेल , द्वारिकाधीश, गोवर्धन पर्वत व बांकेबिहारी जी झांकियां देखने को मिलेंगी। मंदिर का बाह्य स्वरूप बिजली की सुंदर रोशनी से जगमग रहेगा। कोविड-19 की परिस्थिति को ध्यान में रखते हुए इस बार झाँकियाँ एक सीमित क्षेत्र में लगाई गई हैं ताकि भक्तजन दर्शन कर के सीधे बाहर निकल जायें । निकासी द्वार पर उन्हें प्रसाद दिया जायेगा। बाल कृष्ण स्वरूप की एक झांकी बनाई जायेगी जहाँ रात्रि 9 बजे से मंदिर के सेवादारों द्वारा भगवान श्री कृष्ण के भजनों का कार्यक्रम रात बारह बजे तक चलेगा। पश्चात भगवान श्री कृष्ण की आरती होगी और उन्हें भोग लगाया जायेगा। भोग का प्रसाद उपस्थित सभी में बांटा जायेगा। मंदिर प्रात काल 5-30 बजे खुल कर कृष्ण जन्म तक खुला रहेगा किन्तु माँ का दरबार रात्रि 9-00 बजे बंद हो जायेगा। झाँकियों के दर्शन रविवार 9 अगस्त से खोल दिए गए हैं। जन्माष्टमी के दिन आने वाले सभी भक्तों को अमूल द्वारा पैकड पंचामृत का प्रसाद दिया जायेगा। सांय 6-00 बजे से मंदिर बंद होने तक सभी भक्तों को जन्माष्टमी का विषेश प्रसाद दिया जायेगा। रात 12-00 बजे के बाद मंदिर बंद होगा।

मंदिर में प्रवेश के लिए lockdown के सुरक्षा संबंधी नियमों का पालन आवश्यक रहेगा!

नन्द किशोर सेठी, मीडिया प्रभारी , झण्डेवाला देवी मंदिर

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post दिल्ली में जिम खोलने के लिए दिल्ली के माननीय उपराज्यपाल और मुख्यमंत्री से द्रोणाचार्य भूपेन्द्र धवन ने लगाई हृदय-विदारक गुहार
Next post नियमित यात्री और उप नगरीय ट्रेन सेवाएं अग्रिम सूचना तक निलंबित रहेंगी