December 7, 2022

JE की मेहरबानी, बिल्डर की मनमानी ? वार्ड 91 की अजब गजब कहानी ।

अक्सर सुर्खियों में रहने वाला पहाड़ गंज एक बार फिर सुर्खियों में है। जहाँ एक ओर कोरोना की महामारी से पूरा देश आर्थिक स्थिति का सामना कर रहा है वही पहाड़ गंज एक ऐसा क्षेत्र है जहाँ लॉक डाउन में भी अवैध गतिविधियों का सिलसिला जारी रहा है। खास कर यहां अवैध निर्माण सभी नियमो को ताक पर रखकर खुलेआम बे रोकटोक किया जा रहा। बात करे अगर नबी करीम की तो यहाँ पर भी अवैध गतिविधियां खुलेआम चल रही है । फिर चाहे सट्टा हो, अवैध रूप से बने स्पा हो या फिर अवैध निर्माण ? देखकर नही लगता कि यहाँ किसी को भी कानून का कोई डर हो ?
ताज़ा मामला भी उत्तरी दिल्ली नगर निगम के वार्ड 91 (राम नगर ) नबी करीम के किला कदम शरीफ, छोटी हट्टी के सामने भवन संख्या 6907, किला कदम शरीफ , नबी क़रीम का है जहाँ खुलेआम सभी नियमो को ताक पर रखकर कमर्शियल यूज़ के लिए अवैध निर्माण किया जा रहा है। साथ ही सरकारी जमीन पर भी कब्जा किया जा रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक यहाँ अवैध रूप से दुकानें बनाई जा रही है। आस पास के लोगो से जो जानकारी मिली है उसके अनुसार इस अवैध निर्माण को बनाने वाला बंटी नाम का बिल्डर है जो आस पास के सभी लोगो को खुलेआम कहता है कि मेरा हर बिल्डिंग बनाने में पुलिस और एम सी डी में फिक्स रेट है। फिर चाहे कोई कितनी भी शिकायत कर ले । मेरा कोई कुछ नही बिगाड़ सकता है।
साथ ही एक एम सी डी के कर्मचारी से जो जानकारी मिली है वो काफी चौकाने वाली है । कर्मचारी ने अपना नाम ना बताने की शर्त में बताया कि खासकर इस अवैध निर्माण में कुछ हिस्सा क्षेत्र के राम नगर वार्ड 91 में बिल्डिंग डिपार्टमेंट के JE पंकज का है । भवन संख्या 6907 , नबी क़रीम के इस अवैध निर्माण में JE पंकज का पैसा लगा हुआ है। यही वजह है कि अवैध रूप से डाले जा रहे फ्लोर्स के वाबजूद अभी तक ना तो इस अवैध निर्माण को डी एम सी एक्ट के तहत बुक किया गया है ना ही वर्क स्टॉप नोटिस भेजा गया है। ना ही अभी तक डेमोलिशन एक्शन लिया गया है और ना ही सीलिंग एक्शन लिया गया है ?
इस मामले में जब हमारे संवाददाता ने JE पंकज से संपर्क किया तो उनका कहना था कि हमने इस प्रॉपर्टी संख्या 6907, किला कदम शरीफ, नबी क़रीम में चल रहे अवैध निर्माण का वर्क स्टॉप नोटिस ।बिल्डर/ मकान मालिक को थाना नबी क़रीम को भेजा है और JE पंकज कुमार का कहना था कि मेरा पैसा इस अवैध निर्माण में नही लगा हुआ है और जल्द ही हम इस अवैध निर्माण पर डेमोलिशन एक्शन लेंगे और एक और वर्क स्टॉप नोटिस भेजेंगे। बातचीत के दौरान JE पंकज ने वर्क स्टॉप नोटिस की कॉपी देने और दिखाने से भी साफ इंकार कर दिया। अगर इनका कथन सही है तो फिर वर्क स्टॉप नोटिस दिखाने से इनकार क्यो ? डेमोलिशन एक्शन भी अभी तक क्यो नही ? इससे बड़ा गठजोड़ बिल्डर माफिया और निगम अधिकारियों का और किया हो सकता है। इससे बड़ा भष्टाचार का नमूना आपको और कहा देखने को मिलेगा ?
जो जानकारी मिली है उसके अनुसार अगर ऐसा नही तो वार्ड 91 का बिल्डिंग डिपार्टमेंट , खासकर AE, JE पंकज ने अभी तक इस अवैध निर्माण पर डी एम सी एक्ट के तहत कोई भी कानूनी कार्यवाही क्यो नही की है ? आखिर अभी भी इस अवैध निर्माण का बनना जारी ? आखिर क्यों ? यही नही इसी तरह नबी क़रीम, पहाड़ गंज के कई ऐसे हिस्से है जहाँ इसी तरह से अवैध निर्माणों का बनना रात दिन जारी है। यहां तक कि दिल्ली हाई कोर्ट के सख्त आदेशों के बावजूद की अवैध निर्माण ना हो , उल्टे दिल्ली हाई कोर्ट के आदेशों की अवहेलना करते हुए यहाँ एम सी डी और लोकल पुलिस की मिलीभगत से अवैध निर्माण जारी है। साफ तौर पर कहे तो माननीय दिल्ली हाई कोर्ट के आदेशों की अवमानना की जा रही है । इस मामले की गभीरता को देखते हुए पुलिस प्रशासन , विजिलेंस व सतर्कता विभाग को गहन छानबीन करनी चाहिए ? फिलहाल ये जांच का विषय है। अब देखना ये है कि प्रशासन व जांच एजेंसियां इस पर क्या कानूनी कार्यवाही करती है ??

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Previous post डीटीसी एवं कलस्टर बसों में यात्री, ड्राइवर या कंडक्टर किसी भी आपात स्थिति में पैनिक बटन दबा सकते हैं, अलर्ट स्वचालित रूप से वास्तविक समय में कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को चला जाएगा।
Next post निगम कर्मचारियों के हितों के लिए सिविक सेंटर से दिल्ली सचिवालय तक निकालेंगे मार्च- महापौर, जय प्रकाश